सामाजिक कार्य करना मेरे जिंदा रहने का सबूत है: अमीर हाशमी

2018-04-28: Press Release (प्रेस विज्ञप्ति)

रायपुर | छत्तीसगढ़ एन.जी.ओ. महासंध एवं सहकार भारती की संयुक्त कार्यशाला का कृष्णा पब्लिक स्कूल सरोना, रायपुर में आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि रायपुर कलेक्टर श्री ओ.पी.चौधरी अध्यक्षता रामकुमार यादव जी तथा विशिष्ट अतिथि फ़िल्ममेकर अमीर हाशमी शामिल हुये।

अमीर हाशमी ने अपने वक्तव्य में कहा कि कृषि के क्षेत्र में ऐसी तकनीक का शोध भी हो चुका है जिसमें चंद बूंदों से पूरी खेती की जा सकती है वहीं कृषि की आधुनिक तकनीक होते हुए भी आम कृषक तक वक सूचना पहुच नहीं पाता है यह जागरूकता कि कमी है, जबकि हम कलाकार सूचना के सबसे प्रबल संचारक होते है इसके लिए जब भी मुझे समय मिलता है मैं समाज को देता जरूर देता हूँ, यह मेरे ज़िंदा होने का सबूत हैं.

समाज का हर वर्ग मिलकर करें प्रयास तभी विकास संभव
समाज का हर व्यक्ति हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, दलित, किसान, मजदूर आपस में मिलकर जब कोई सार्थक सरल काम करता है वही विकास है, सरकार के भरोसे बैठे रहने से विकास 100 जन्मों में नहीं होगा, यह हमारा कर्तव्य है कि हम मिलकर सार्थक प्रायस करें। भीड़ बनकर सरकार से मांग करने और जगह जगह देश भर में धरना देने के बजाए दिन में केवल एक घंटे भी हम अपने समाज के लिए कार्य करें तो विकासशील देश से विकसित राष्ट्र में हम परिवर्तित हो सकते है, बोलती नदी अभियान के संयोजक फ़िल्ममेकर अमीर हाशमी ने जल पुरुष राजेन्द्र सिंह का भी उदाहरण देते हुए कहां कि 1971 में पूर्णत: सूख चुकी नदियों को केवल सामाजिक सहयोग से बिना किसी मीडिया व सरकार की मदद के बिना 9 नदियों में पानी को वापस धाराप्रवाह किया है और ग्राउंड वाटर रिचार्ज किया है।

हम कलाकार क्रिकेट की बाउंसर बॉल है
हाशमी ने कहा कि हम कलाकार बाउंसर बॉल की तरह होते है या तो बल्ले की छोटी सी चोट से सिक्सर लग जाता है या सर फुट जाता है। फ़िल्म एक्टर आमिर ख़ान का उदाहरण देते हुए हाशमी ने कहा कि उनकी किसी निजी राय पर असहिष्णुता का मुद्दा पूरे देश में वाईरल हो गया वही दूसरी तरफ पानी फॉउंडेशन के तत्वाधान में आमिर वॉटर कप का आयोजन करके 116 तालुकाओं में प्रतिस्पर्धा का आयोजन कर समाज के हर तबके को जोड़कर आज काम कर रहें है। हाशमी ने कहा कि जहां कही भी हमारी फ़िल्म इंडस्ट्री की ज़रूरत हो आम जन तक अच्छी बातों को पहचाने हम कलाकार आपके साथ है।